Categories
Bed time Stories Lok Kathayen Sri Lanka Ki Lok Kathaayen Story

Sri Lanka ki Lok Kathayen-2 (श्रीलंका की लोक कथाएँ-2)

 कहानी-तरकीब: श्रीलंका की लोक-कथा

ishhoo blog image8

काशुन और इसुरु की मित्रता ऐसी थी, जैसे दोनों एक शरीर दो जान हों । यदि एक को चोट लगती तो तकलीफ दूसरे को होती। वे दोनों बचपन से ही मित्र थे ।

 उनकी मित्रता इतनी पुरानी और घनिष्ट थी कि लोग उसकी दोस्ती का मिसाल देते थे । काशुन और इसुरु बड़े हो गए थे और दोनों का अलग-अलग व्यापार था । एक दिन दोनों ने तय किया कि वे दोनों मिलकर व्यापार करेंगे ।

फिर दोनों ने मिलकर व्यापार शुरू कर दिया। उनका व्यापार चल निकला और दोनों खूब अमीर हो गए । वे ठाठ-बाट से रहने लगे। धीरे-धीरे एक समय आया कि दोनों का विवाह हो गया ।

Categories
Bed time Stories Lok Kathayen Sri Lanka Ki Lok Kathaayen Story

Sri Lanka ki Lok Kathayen-1 (श्रीलंका की लोक कथाएँ-1)

कहानी- करामाती टोपी: श्रीलंका की लोक कथा

ishhoo blog image7

एक बार की बात है, एक गरीब लड़का था। इतनी बड़ी दुनिया में उसका कहीं कोई नहीं था। न मा-बाप, न भाई-बहन। पर वह लड़का बहुत परिश्रमी था। एक बार उसकी मेहनत से प्रसन्न होकर एक किसान ने उसे एक बैल दे दिया। लड़के ने सोचा, बैल से किसी बंजर ज़मीन को जोतूंगा और उस पर कोई फसल उगाने की कोशिश करूंगा। वह बैल लेकर चल पड़ा।

गर्मी के दिन थे। लड़के के बदन पर न कपड़े थे और न पैरों में जूते। फिर भी वह अपनी धुन में बैल हांकता चला जा रहा था। अचानक उसे लगा, जैसे कोई उसे बुला रहा है। उसने मुड़कर देखा तो तीन शरारती आदमी खड़े मुस्करा रहे थे। लड़के ने उनसे पूछा-“आपने मुझे पुकारा था? क्या कोई काम है?”